Home / Kanpur City / Panchayat Chunav 2021, Hardoi News – राजनीति! दिल है कि भरता नहीं…, सांसद व दो विधायक वाला परिवार अब प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य का दावेदार
Panchayat Chunav 2021, Hardoi News – राजनीति! दिल है कि भरता नहीं…, सांसद व दो विधायक वाला परिवार अब प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य का दावेदार

Panchayat Chunav 2021, Hardoi News – राजनीति! दिल है कि भरता नहीं…, सांसद व दो विधायक वाला परिवार अब प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य का दावेदार

Loading...
Loading...

ख़बर सुनें

एक जमाने की मशहूर फिल्म के गाने के बोल थे, दिल है कि मानता नहीं…। राजनीतिक लिहाज से जिले के हालातों पर इसमें थोड़ा सा संशोधन कर दें तो बोल सटीक बैठेंगे। दिल है कि भरता नहीं…। हरदोई जिले के एक रसूखदार परिवार के साथ कुछ ऐसा ही है।

परिवार का एक सदस्य देश की सबसे बड़ी पंचायत में है, तो दो सदस्य सूबे की सबसे बड़ी पंचायत में हैं। बावजूद इसके गंवई राजनीति पर अपनी पकड़ कमजोर नहीं होने देना चाहते। इसलिए प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य के पद पर भी दावा कर दिया। 

मामला कोथावां ब्लाक के ग्राम शाहपुर अटिया से जुड़ा है। बालामऊ विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक राम पाल वर्मा प्रदेश सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में वह आठवीं बार विधानसभा के लिए चुने गए हैं।

रामपाल वर्मा के भतीजे और इलाके में पासी समाज के कद्दावर नेता रहे कुबेर लाल के पुत्र प्रभाष कुमार सांडी से भाजपा विधायक हैं। प्रभाष पूर्व में कोथावां के ब्लाक प्रमुख रह चुके हैं। रामपाल वर्मा के ही दूसरे भतीजे अशोक कुमार रावत मिश्रिख लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद हैं।
मतलब यह कि चाचा विधायक, एक भतीजा विधायक और एक भतीजा सांसद। पर बात यहीं खत्म नहीं होती। विधायक रामपाल वर्मा की पत्नी सरोजनी शाहपुर अटिया की निवर्तमान प्रधान हैं और इस बार के पंचायत चुनाव में वह फिर से प्रधान पद की दावेदार हैं।

विधायक रामपाल वर्मा का पुत्र निर्भय वर्मा कोथावां का निवर्तमान ब्लाक प्रमुख है और इस बार के चुनाव में भी क्षेत्र पंचायत सदस्य का प्रत्याशी है। इतना ही नहीं रामपाल वर्मा के भतीजे सांडी विधायक प्रभाष कुमार की पत्नी निरमा देवी ने भी कोथावां प्रथम से जिला पंचायत सदस्य के लिए नामांकन दाखिल किया है।

प्रभाष के छोटे भाई संदीप वर्मा कोथावां तृतीय से जिला पंचायत के निवर्तमान सदस्य हैं। कुल मिलाकर लोकतंत्र की सबसे छोटी इकाई से लेकर सबसे बड़ी इकाई तक में इस परिवार की भागीदारी है।

एक जमाने की मशहूर फिल्म के गाने के बोल थे, दिल है कि मानता नहीं…। राजनीतिक लिहाज से जिले के हालातों पर इसमें थोड़ा सा संशोधन कर दें तो बोल सटीक बैठेंगे। दिल है कि भरता नहीं…। हरदोई जिले के एक रसूखदार परिवार के साथ कुछ ऐसा ही है।

परिवार का एक सदस्य देश की सबसे बड़ी पंचायत में है, तो दो सदस्य सूबे की सबसे बड़ी पंचायत में हैं। बावजूद इसके गंवई राजनीति पर अपनी पकड़ कमजोर नहीं होने देना चाहते। इसलिए प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य के पद पर भी दावा कर दिया। 

मामला कोथावां ब्लाक के ग्राम शाहपुर अटिया से जुड़ा है। बालामऊ विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक राम पाल वर्मा प्रदेश सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में वह आठवीं बार विधानसभा के लिए चुने गए हैं।

रामपाल वर्मा के भतीजे और इलाके में पासी समाज के कद्दावर नेता रहे कुबेर लाल के पुत्र प्रभाष कुमार सांडी से भाजपा विधायक हैं। प्रभाष पूर्व में कोथावां के ब्लाक प्रमुख रह चुके हैं। रामपाल वर्मा के ही दूसरे भतीजे अशोक कुमार रावत मिश्रिख लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद हैं।


This content is from – Amar Ujala News

About kanpursmartcity

Check Also

Covid 19 Situation In Kanpur, Government And Private Hospital – Corona In Kanpur: कोविड अस्पतालों के बेड दलाल कर रहे ब्लैक, हैलट से लेकर निजी अस्पतालों तक सक्रिय

Covid 19 Situation In Kanpur, Government And Private Hospital – Corona In Kanpur: कोविड अस्पतालों के बेड दलाल कर रहे ब्लैक, हैलट से लेकर निजी अस्पतालों तक सक्रिय

Loading... Loading... न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कानपुर Published by: प्रभापुंज मिश्रा Updated Fri, 16 Apr …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *